42068949_471852739993098_3253870382817302198_n.jpg

उमंग-2021 विवरण

01

उमंग'21 का उद्घाटन

17 सितंबर 2021 को उमंग 2021 का शुभारम्भ किया गया। श्री चरणजीत चरण जी(हिंदी कवि और उर्दू शायर) और श्री अमित कुमार आजाद जी (कवि और बैच 2015 के पूर्व छात्र) उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। हमने अपने संघ(क्लब) के अध्यक्ष और हमारे संकाय सलाहकार, डॉ जितराज साहा के भाषण के साथ समारोह की शुरुआत की। उमंग 2021 को सर्वशक्तिमान की प्रार्थना के साथ आगे बढ़ाया गया। मुख्य अतिथियों ने अपनी कविताओं के माध्यम से हिंदी के महत्व को समझाया और कई छोटी कहानियों के माध्यम से हमारी प्रशंसा की। उन्होंने हिंदी को, दुनिया भर में बोली जाने वाली भाषाओं  में से, सबसे अधिक संतुष्टिदायक भाषा   बताया। हमने गूगल मीट पर समारोह का आयोजन किया जिसमें 150 से अधिक लोगों ने भाग लिया। इसके अलावा, मुख्य अतिथियों ने आयोजन और भविष्य के लिए शुभकामनाएं भी दीं।

02

ब्लफ़मास्टर

वे लोग जो फिल्मों को छवियों की एक चलती हुई श्रृंखला से अधिक मानते हैं और जो अपने पसंदीदा गीत को कहीं भी गुनगुनाने से नहीं हिचकते हैं, उनके लिए 'ब्लफ़-मास्टर' उत्साह और मस्ती से भरे कुछ पल लेकर आया। 18 सितंबर, 2021 को इस प्रतियोगिता का पहला चरण आयोजित किया गया था। इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी टीमों में से शीर्ष 6 टीमों को अंतिम चरण में भाग लेने के लिए चयनित किया गया(प्रत्येक टीम में 2 प्रतिभागी थे)। इस प्रतियोगिता का दूसरा चरण 24 सितंबर, 2021 को आयोजित किया गया। इसमें कुल 8 प्रश्न थे तथा उनसे मौखिक और दृष्टिगत रूप से पूछताछ की गयी।

03

हिंदी प्रश्नोत्तरी

इस प्रतियोगिता में तीन प्रकार  के प्रश्न शामिल थे-

भारत प्रश्नोत्तरी  - इस आयोजन में भारतीय इतिहास, सामयिकी आदि के बारे में सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्नों के आधार पर प्रतिभागियों के ज्ञान का निर्धारण करना शामिल था।

क्रिकेट प्रश्नोत्तरी - इस आयोजन में क्रिकेट के नियम और महत्वपूर्ण घटनाओं से जुड़े प्रश्न पूछे गए।

बॉलीवुड प्रश्नोत्तरी - सिनेमा अपने महान आकर्षण के कारण किसी भी भाषा को बढ़ावा देने का सबसे अच्छा तरीका है। इस आयोजन में बॉलीवुड से जुड़े सवाल पूछे गए।

इस प्रतियोगिता के दो चरण थें जिसमें प्रथम चरण को 18 सितंबर, 2021 को तथा अंतिम चरण को 25 सितंबर, 2021 को आयोजित किया गया था। इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी टीमों में से शीर्ष 6 टीमों को अंतिम चरण में भाग लेने के लिए चयनित किया गया(प्रत्येक टीम में 2 प्रतिभागी थे)। परीक्षण के आधार पर केवल चयनित की गई टीमों को अंतिम चरण के लिए बुलाया गया था जो कि एक मंच प्रस्तुति आयोजन था। यह सभी कॉलेजों के छात्रों के बीच एक बहुत लोकप्रिय आयोजन रहा। यह निश्चित रूप से हमारे परिसर में, भाषा के रूप में हिंदी की पहुंच को बढ़ाता है।

04

 चक्रव्यूह

यह एक पहेली (तार्किक  प्रश्न, मात्रात्मक प्रकार के प्रश्न, आदि) आधारित  आयोजन है। इसमें दो चरण थे (प्रथम और अंतिम)। चक्रव्यूह (प्रथम चरण) 19 सितंबर, 2021 को आयोजित किया गया था। इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी टीमों में से शीर्ष 6 टीमों को अंतिम चरण में भाग लेने के लिए चयनित किया गया(प्रत्येक टीम में 2 प्रतिभागी थे)। दूसरे चरण का आयोजन 26 सितंबर, 2021 को किया गया था जिसमें अलग-अलग नियमों के साथ 5 राउंड होते हैं। सभी प्रश्न स्क्रीन पर दिखाए गए थे।

05

हल्का-फुल्का

इस प्रतियोगिता के माध्यम से यह परीक्षण किया जाता है कि किसी का ज्ञान हिंदी साहित्य और भाषा निर्माण में कितना गहरा है। इसमें दो चरण थे (प्रथम और अंतिम)। प्रथम चरण का आयोजन 19 सितंबर, 2021 को किया गया था। इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी टीमों में से शीर्ष 6 टीमों को अंतिम चरण में भाग लेने के लिए चयनित किया गया(प्रत्येक टीम में 2 प्रतिभागी थे)। 25 सितंबर, 2021 को इस प्रतियोगिता के अंतिम चरण का आयोजन किया गया। पूछे गए प्रश्न मिश्रित पैटर्न जैसे हिंदी साहित्य, महाभारत आदि पर आधारित थे।

06

संसदीय  बहस

यह प्रतियोगिता 25 सितंबर, 2021 को आयोजित किया गया था। विवाद सत्र दो दलों के बीच था, एक दल प्रस्ताव के साथ था और दूसरा दल प्रस्ताव के खिलाफ। उन्हें किसी दिए गए विषय पर एक निश्चित समय अंतराल में बहस करनी थी। इस प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी टीमों में से शीर्ष 3 टीमों  चयनित किया गया(प्रत्येक टीम में 2 प्रतिभागी थे)।

07

झंकार

हिंदी भारतीय संस्कृति से जुड़ी है और इसलिए हिंदी सप्ताह के अंतिम रात को छात्रों द्वारा विभिन्न प्रकार से हिंदी प्रदर्शन के साथ मनाया गया। रात में छात्रों को गायन (एकल / युगल) और नृत्य (एकल) के क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए एक मंच दिया गया। इस कार्यक्रम को 26 सितंबर, 2021 को आयोजित किया गया था जिसका सभी ने खूब लुत्फ उठाया और उसे खूब सराहा। एमएस टीम पर आभासी रूप से झंकार कार्यक्रम का आयोजन किया गया।